2,489 Total Views

अल्मोड़ा-आज रानीधारा लिंक रोड के पुनर्निर्माण के लिए रानीधारा सड़क पुनर्निर्माण संघर्ष समिति के बैनर तले छठे दिन भी धरना जारी रहा।विनय किरौला ने कहा कि धरना स्थल पर नगरपालिका के द्वारा बताया गया कि 300 मीटर के मार्ग में कार्य चल रहा है।साथ ही कुछ दिन पूर्व हुई नई निविदा के 150 मीटर का कार्य किया जाएगा।इसके अतिरिक्त रानीधारा सड़क निर्माण संघर्ष समिति की सहायक अभियंता लोनिवि से धरना स्थल पर वार्ता हुई।उनके अनुसार 66.31 लाख का बजट इस मार्ग में डामरीकरण के लिए विभाग के पास है।उन्होंने बताया कि यह बजट मार्ग में डामरीकरण ले लिए है,किंतु इस मार्ग में तकनीकी दृष्टि से सीसी और इंटरलॉकिंग ही सम्भव है।इसके रूपांतरण के लिए फ़ाइल शासन को भेज दी गयी है।संघर्ष समिति को दो माह में कार्य प्रारम्भ होने का समय दिया गया है,जिसमे इस मार्ग के सुधारीकरण के लिए इंटरलॉकिंग टाइल्स व सीसी मार्ग का निर्माण किया जाएगा। उन्होंने बताया कि संघर्ष समिति ने तय किया है कि कार्यदायी संस्था रानीधारा वासियो को सुनिश्चित कराए कि उनके द्वारा किये गए कार्य के बाद किसी के घर मे बरसात का पानी नही जाएगा,साथ ही लोनिवि सुनिश्चित करें कि किस दिवस से उनके द्वारा इंटरलॉकिंग टाइल्स व सीसी मार्ग का कार्य प्रारंभ होगा।यह भी तय किया गया कि जब तक मार्ग का कार्य लोनिवि द्वारा पूरा नहीं कर लिया जाता आंदोलन जारी रहेगा।धरना स्थल पर मौजूद मंजू पंत ने ने कहा कि सीवर लाइन बनने से लोगो के घरों में पानी आ रहा है,उन्होंने चेतावनी दी कि यदि बिना इंजिनयरिंग की जांच के यदि सीवर लाइन शुरू की गई एवं उनके भवन को कोई नुकसान पहुंचा तो वो आमरण अनशन,आत्मदाह करने को मजबूर हो जाएगी क्योंकि सीवर लाइन अभी चालू भी नही है और उनके घर मे पानी जाने लगा है,जिससे मकान को खतरा हो गया है।इसके अतिरिक्त संघर्ष समिति ने कहा कि जो लोग रानीधारा सड़क निर्माण संघर्ष समिति पर राजनीति करने का आरोप लगा रहे है वे लोग इस लिंक रोड के पुनर्निर्माण में धरने का नेतृत्व करें,हम उनका स्वागत करते है,हम उनके नेतृत्व में इस मार्ग के सुधारीकरण के लिए संघर्ष को तैयार है।आज धरने को समर्थन देने के लिए पूर्व दर्जा राज्य मंत्री बिट्टू कर्नाटक व उनके साथी उपस्थित रहे।बिट्टू कर्नाटक ने कहा कि रानीधारावासी इस सड़क के निर्माण में चल रहे इस धरने में संगठित हो जाए तभी रोड का निर्माण संभव है।आज के धरने में धरने के संयोजक विनय किरौला,बिट्टू कर्नाटक,मीनू पंत,अर्चना पंत,आशीष जोशी,गीता पंत,मनीषा पंत,सुशीला बिष्ट,हिमांशु पंत,राहुल पंत,पवन पंत,बीना पंत,नीमा पंत,हंसी रावत, उमा अलमिया,भगवती डोगरा, प्रतिमा सिजवाली,कमला द्रमवाल, माया कांडपाल,भावना रावत,ज्योति पाण्डेय,दीपाली पांडेय,माया बिष्ट,रघुनाथ सिंह,सुमित नज्जोन, मोहित गुप्ता,बीएन पंत,मनमोहन सिंह,एस डी बिष्ट,बीडी कर्नाटक,रोहित शैली आदि दर्जनों लोग उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: