9,249 Total Views

अल्मोड़ा-18-19 तारीख को आई भीषण बारिश व आपदा के बाद धर्मनिरपेक्ष युवा मंच के सयोंजक विनय किरौला के नेतृत्व में मंच द्वारा अल्मोड़ा शहर के विभिन्न वार्डों व अल्मोड़ा के विभिन्न गांवो में प्रत्येक आपदा प्रभावित घरों का दौरा कर प्रभावितो का हाल जाना गया।अल्मोड़ा में आई आपदा के मुख्य कारणों में पानी की निकासी की व्सवस्था न होना एक बड़ा कारण दिखाई दिया,इसका अतिरिक्त अल्मोड़ा में लोगो को मुख्य नुकसान उनके मकानों की क्षति,आँगन का टूटना,घरों के आगे-पीछे की दीवारों के टूट गयी है।सरकार की आपदा नीति में पूर्ण क्षतिग्रस्त मकानों या आंशिक क्षतिग्रस्त मकानों के लिए ही क्षतिपूर्ति की व्सवस्था है,जबकि केंद्र की न्यूनीकरण(mitigation) नीति के तहत आँगन, घरों के आगे पीछे की दीवारों आदि के सुधारीकरण के लिए बजट होता है,मंच ने पुरजोर माँग की है कि अल्मोड़ा की भूगोलिक स्थिति को देखते हुए,केंद्र सरकार तत्काल बजट जारी कर प्रत्येक आपदा पीड़ित परिवारों को उनके आँगन, दीवारों,खेतों के सुधारीकरण के लिए धन आवंटित करें।इस विषय मे जिलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री व केंद्र सरकार को ज्ञापन भेजा गया।
ज्ञापन देने वालों में मंच के सयोंजक विनय किरौला,मीडिया प्रभारी मयंक पंत,समन्वयक हरिश बिष्ट,समन्वयक पूरन रौतेला,आदित्य पांडेय,सूरज टम्टा, निरंजन पांडेय,अमित चौधरी, राजेन्द्र लटवाल,सूंदर बिष्ट,गोधन लटवाल,रंजीत बिष्ट,हरीश बिष्ट,महेंद्र बिष्ट,दीपक दानी,चंद्रिका तिवारी,नरेंद्र रॉयल,गिरीश तिवारी,सोनी टम्टा, वीरेंद्र कनवाल,अशोक भंडारी,पंकज कुमार आदि थे।

error: